बदलेगा ये क्रिकेट रूल जिससे कभी बेवजह आउट हुए थे सचिन

स्पोर्ट्स डेस्क.19 फरवरी 1999 को भारत पाकिस्तान के बीच खेले जा रहे टेस्ट मैच में सचिन के आउट होने पर जमकर विवाद हुआ था। इसे अंपायरिंग डिसिजन कहें या क्रिकेट रूल्स की खामी जिसके चलते सचिन बेवजह आउट हो गए थे। इसके बाद पूरे ग्राउंड पर फैन्स ऐसे भड़के कि पुलिस से लेकर आर्मी तक का सहारा लेना पड़ा बाद में क्रिकेट के भगवान को मैदान पर आकर खुद फैन्स को शांत कराना पड़ा था। शोएब अख्तर का पैर लगने से हुए थे आउट…
 
– पाकिस्तान के खिलाफ एशियन टेस्ट चैंपियनशिप मैच का चौथा दिन। भारत को जीत के लिए 279 रन चाहिए थे और टीम ने दो विकेट पर 145 रन बना लिए थे। सचिन तेंडुलकर ने तीसरा रन लेने के क्रम में नॉन स्ट्राइकर एंड पर क्रीज के अंदर बैट रख दिया। लेकिन, शोएब अख्तर का पैर लगने से उनके बैट जमीन से उठ गया। तभी गेंद स्टंप पर लगी और सचिन रन आउट करार दे दिए गए। भारत ये टेस्ट 46 रन से हार गया।
 नियम में हुआ बदलाव
अगर अब ऐसा ही वाकया अगर 1 अक्टूबर के बाद होगा तो बैट्समैन को रन आउट नहीं दिया जाएगा। सचिन के साथ उस मैच में खेले अनिल कुंबले की अध्यक्षता में आईसीसी की क्रिकेट समिति ने गुरुवार को नियमों में बदलाव की जो सिफारिशें की हैं उनमें एक इससे भी जुड़ी है।
– अगर कोई बैट्समैन एक बार क्रीज के अंदर बैट या शरीर का कोई हिस्सा रख देता है तो फिर वह किसी भी सूरत में रन आउट नहीं होगा। भले ही गेंद स्टंप्स पर लगते समय बल्ले सहित उसका पूरा शरीर हवा में क्यों न हो। समिति ने आईसीसी को इसके साथ ही कई अन्य सिफारिशें भी सौंप दी हैं।
सबसे पहले फैन्स ने ग्राउंड पर वॉटर बॉटल्स और कई सामान फेंकना शुरू कर दिए थे।
इसके बाद जमकर हंगामा हो गया और भीड़ तोड़फोड़ करने की कोशिश करने लगी। इसके बाद पुलिस और सिक्युरिटी फोर्सेस को ग्राउंड पर आना पड़ा।
जब बात नहीं संभली तो खुद सचिन और डालमिया दर्शकों से शांति की अपील करने ग्राउंड पर पहुंचे। जिसके बाद दर्शकों का गुस्सा थोड़ा शांत हुआ।
पाकिस्तान ये मैच 46 रन से जीत गया था।
विकेट लेने के बाद शोएब अख्तर।
Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *